बाबरी मंडी उपद्रव में हिन्दू जेल में और मुस्लिम बाहर!

बाबरी मंडी उपद्रव में हिन्दू जेल में और मुस्लिम बाहर!

एक तरफा कार्रवाई के खिलाफ हिन्दू जागरण समिति ने दी आंदोलन की चेतावनी

सीएए और एनआरसी की विरोध कर रही भीड़ ने किया था उपद्रव, चली थी गोलियां

अलीगढ़.

सीएए और एनआरसी के विरोध में हुए प्रदर्शनों के दौरान हुई हिंसा के मामले में एक तरफा कार्रवाई का आरोप लगाते हुए हिन्दू जागरण समिति ने अलीगढ़ प्रशासन को ज्ञापन सौंपा और आंदोलन की चेतावनी दी है। मामले में पुलिस ने अब तक दूसरे पक्ष के एक भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं किया है जबकि हिन्दू पक्ष की ओर से गिरफ्तारियां हो चुकी है। यहां तक इस मामले में गिरफ्तार विनय वार्ष्णेय अब तक जेल में हैं।

हिन्दू जागरण समिति ने आरोप लगाया है कि इस मामले में हिंदुओं की ओर से तीन प्रथम सूचना रिपोर्ट नंबर 37/20 अंतर्गत धारा 153 ए.307, 504 ,38/20 अंतर्गत धारा 153 ए,307, आईपीसी एवं 39/20 अंतर्गत धारा 147, 323 153-ए आईपीसी थाना कोतवाली अलीगढ़ में दर्ज हुई। इसमेें मुख्य रुप से सलमान इम्तियाज, आमिर शाहरुख आदि व्यक्ति नामजद थे। पुलिस ने इन्हें गिरफ्तार किए बिना ही इन पर केस समाप्त करने की तैयारी कर ली है।

मुआवजा भी नहीं मिला

दंगे के तथाकथित पीड़ित मुस्लिम व्यक्तियों को मुआवजा भी दिया जा चुका है लेकिन पीड़ित हिंदुओं को कोई मुआवजा नहीं मिला है। बाबरी मंडी क्षेत्र में कई हिंदुओं के शस्त्र लाइसेंस निरस्त कर उनके असले जमा कराए जा चुके हैं। अलीगढ़ प्रशासन की बावरी मंडी क्षेत्र के हिंदुओं के खिलाफ की गई एकतरफा उत्पीड़नात्मक कार्यवाही से हिंदुओं में आक्रोश पनप रहा है ।

ये थी घटना

अलीगढ़ के बाबरी मंडी क्षेत्र में सीएए और एनआरसी के विरोध प्रदर्शन हुए थे। इस दौरान बाबरी मंडी के तुर्कमान गेट इलाके में हिन्दू बस्तियों पर हमला भी हुआ था। खास बात ये है कि हमले के दौरान क्षेत्र में स्थित पुलिस चौकी में पुलिसकर्मी भी दंगाईयों से घिर गए थे, जिन्हें हिन्दू बस्ती के निवासियों ने बचाया था। इस मामले में फायरिंग भी की गई थी। जिसमें बस्ती के कईं लोग घायल हुए थे। इसके बाद इस मामले में हिन्दू पक्ष में पुलिस में रिपोर्ट भी दर्ज कराई थी।

उपद्रवी तत्वों की ओर से हिंदुओं के खिलाफ की गई रिपोर्ट में बाबरी मंडी निवासी विनय वार्ष्णेय, सुरेंद्र, त्रिलोकी जेल जा चुके हैं जिनमें से सुरेंद्र तथा त्रिलोकी की जमानत हो चुकी है तथा विनय वार्ष्णेय अभी भी जेल में निरुद्ध हैै। दूसरी ओर हिंदुओं की ओर से की गई नामजद रिपोर्ट में दूसरे पक्ष के किसी भी व्यक्ति की गिरफ्तारी नहीं हुई एवं अलीगढ़ प्रशासन इन जद व्यक्तियों को क्लीन चिट देने की तैयारी में है। उन्‍होंने चेतावनी दी है कि अगर हमारी मांगें नहीं मानी गई तों हिंदू हित में हिंदू जागरण समिति आंदोलन को बाध्य होगा।

ekatma

Related Posts

श्रीराम मंदिर निर्माण हेतु महालक्ष्मी नगर महिला भजन मंडल ने 1.21 लाख की राशि समर्पित की

श्रीराम मंदिर निर्माण हेतु महालक्ष्मी नगर महिला भजन मंडल ने 1.21 लाख की राशि समर्पित की

ऑस्ट्रेलिया में भारतीय क्रिकेटरों ने खाया गौमांस, बिल वायरल !

ऑस्ट्रेलिया में भारतीय क्रिकेटरों ने खाया गौमांस, बिल वायरल !

औरंगाबाद का नाम होगा संभाजी नगर, शिवसेना ने की घोषणा

औरंगाबाद का नाम होगा संभाजी नगर, शिवसेना ने की घोषणा

किसान आंदोलन: धरनास्थल पर पढ़ी गई नमाज

किसान आंदोलन: धरनास्थल पर पढ़ी गई नमाज

No Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Recent Posts

Recent Comments

Archives

Categories

Meta